इतना खौफनाक मंजर है कि शेर कहना भी दूभर है ..

इतना खौफनाक मंजर है कि शेर कहना भी दूभर है ..

आजमगढ़ में अखिल भारतीय काव्य मंच की ओर से शारदा चौराहा स्थित एक विद्यालय परिसर में होली मिलन समारोह और कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि जिलाधिकारी एनपी सिंह ने कहा कि कवियों की रचनाएं सामाजिक एकता, आपसी भाईचारा, सामाजिक समरसता को बनाए रखने के लिए होनी चाहिए।
मंच के प्रांतीय संरक्षक फौजदार सिंह ने कहा कि इस तरह के आयोजनों से राष्ट्रीय एकता और भाईचारे को बल मिलता है। जिलाधिकारी ने सभी कवियों व शायरों को स्मृति चिह्न व मोमेंटो देकर सम्मानित किया। विशिष्ट अतिथि उपश्रमायुक्त रोशन लाल, सहायक अभियंता संदीप प्रजापति व वीरेंद्र कुमार सिंह रहे। काव्य मंच के संस्थापक डा. प्रमोद वाचस्पति ने काव्य पाठ के माध्यम से राष्ट्रीय एकता और अखंडता का संदेश दिया।
शायर आकिल जौनपुरी ने इतना खौफनाक मंजर है कि शेर कहना भी दूभर है.. सुनाकर वर्तमान हालात को उजागर किया। इसमें मोनिस, अंसार, तरन्नुम, आशा सिंह, देवमणि त्रिपाठी अंगार, संजय पांडेय, धर्मू प्रसाद यादव, जयप्रकाश यादव, कृपाशंकर पाठक, छोटेलाल, वीरेंद्र यादव, गिरिश चतुर्वेदी आदि रहे। अध्यक्षता कवि प्रभुनारायण पांडेय प्रेमी व संचालन सभाजीत द्विवेदी प्रखर ने किया।

Virendra Kumar Saroj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

अंबिका सेवा संस्थान द्वारा कोरोना से बचने के लिए क्षेत्र में मास्क और साबुन का किया गया वितरण और स्वास्थ्य संबंधी दी गई जानकारी

Sat Mar 21 , 2020
अंबिका सेवा संस्थान द्वारा कोरोना से बचने के लिए क्षेत्र में मास्क और साबुन का किया गया वितरण और स्वास्थ्य संबंधी दी गई जानकारी आजमगढ़  / अंबिका सेवा संस्थान कार्यालय पर कोरोना जैसे महाबीमारी को देखते हुए एक बैठक की गई जिसमें संस्था के प्रभारी अध्यक्ष अभिषेक उपाध्याय ने बताया […]

Breaking News

%d bloggers like this: