कोरोना पर भारी पड़ा आस्था, विद्वत् महासंघ व युवा जनकल्याण समिति ने घर पर ही विधि विधान से किये श्रावणी उपाकर्म एवं सप्तऋषि पूजन

कोरोना पर भारी पड़ा आस्था, विद्वत् महासंघ व युवा जनकल्याण समिति ने घर पर ही विधि विधान से किये श्रावणी उपाकर्म एवं सप्तऋषि पूजन.

श्रावणी उपाकर्म करने से वर्ष भर जाने अनजाने मे किये गये पापों का शमन होता है — ज्योतिषाचार्य पं. बृजेश पाण्डेय.

लाक डाऊन के कारण प्रशासन द्वारा शहर मे धारा 144 लगने से सामूहिक रुप से सामाजिक एवं धार्मिक कार्यक्रमों मे 10 लोगों कि संख्या को एक स्थान पर एकत्रित होने पर प्रतिबन्धित किया गया था जिसके कारण अँधियारी बाग रामलीला मैदान समिप मानसरोवर मंदिर पोखरे पर आयोजित होने वाला श्रावणी उपाकर्म एवं सप्तऋषि पूजन का कार्यक्रम को विद्वत व युवाजनो ने समाज एवं जनहितार्थ हेतु निर्णय लेकर कार्यक्रम को स्थगित कर दिया तथा दृढ़ संकल्प के साथ श्रावणी उपाकर्म मनाया जायेगा सामूहिक रुप से ना सही सभी विद्वत जन व युवाजन ने अपने अपने घर पर स्वयं ही श्रावणी उपाकर्म व सप्तऋषि पूजन करने हेतु सहमति जतायी तथा कोरोना संकट काल मे धर्म आस्था पर कोई प्रभाव ना पड़ने पाये विद्वानों का संकल्प सार्थथक हुआ!

भारतीय विद्वत् महासंघ के महामंत्री व भारतीय युवा जनकल्याण समिति के संस्थापक संरक्षक ज्योतिषाचार्य पं. बृजेश पाण्डेय ने अपने आवास गोकुलधाम मे विधि विधान से श्रावणी उपाकर्म एवं सप्तऋषि पूजन किये. इस दौरान पं.बृजेश पाण्डेय ने श्रावणी उपाकर्म मे स्वयं मत्रोच्चार करते हुए पीली मिट्टी,भस्म,गाय का गोबर, काला तिल, अच्छत् फूल कूशा चिड़चिड़ा पंचगब्य आदि एकत्रित कर सर्वप्रथम आचमन कर पवित्री धारण कर हाथ में अच्छत् फूल लेकर हेमाद्रि संकल्प किये उसके बाद पंचगब्य प्राशन किये एवं मिट्टी, गोबर, भस्म आदि से स्नान कर कूशा,चिचिहिड़ा से मार्जन किये तथा पुनः गायत्री मंत्र तथा सूर्य नमस्कार किये एवं तत्पश्चात देव तर्पण,ऋषि तर्पण,पितृ तर्पण,भीष्म तर्पण कर पुनः स्नान कर स्वच्छ वस्त्र पहन कर कुश से सप्तऋषियों का स्वरुप निर्मित कर पूजा करते हुए पंचोपचार व षोड़शोपचार किये और फल,मिठा एवं वस्त्र आदि सप्तऋषियों को अर्पण किये एवं यज्ञोपवित की पूजा कर यज्ञोपवित (जनेऊ) धारण किये!

पं. बृजेश पाण्डेय ने बताया कि भारतीय विद्वत् महासंघ के विद्वतजन एवं भारतीय युवा जनकल्याण समिति के युवाजन विगत कई वर्षों से गोरखनाथ मंदिर स्थित भीम सरोवर पोखरा पर सामूहिक रुप से श्रावणी उपाकर्म करती चली आ रही है परन्तु वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए सोशल डिंस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान देना आवश्यक था क्योंकि गोरखपुर मे कोरोना संक्रमितों कि संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है इसलिये विद्वानों के सुझाव से अपने-अपने घर पर ही लघु एवं वृहत रुप से सामर्थनुसार कार्यक्रम का आयोजन किया गया.श्रावणी उपाकर्म एवं सप्तर्षि पूजन करने से शरीर एवं आत्मा स्वच्छ तथा जाने अनजाने में किये गये पापों का शमन हो जाता है श्रावणी उपाकर्म एवं सप्तर्षि पूजन करने से धन धान्य की प्राप्ति एवं सभी बिकृतियां दूर हो जाती है सआथ ही अपने अपने घरों पर विभिन्न विद्वानों व युवाओं ने भी श्रावणी उपाकर्म व सप्तऋषि पूजन किये.

S.P.RAWAT नई दिल्ली

Managing Director/Editor in Chief Cont.9810566149

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

विद्यालय का टोल पम्प चुराया फिर प्रबंधक के घर पर किया जानलेवा हमला, कार्यवाई की मांग

Tue Aug 4 , 2020
महराजगंज। विद्यालय का टोल पम्प हुआ चोरी चोर सीसीटीवी में कैद मामला पहुंचा थाने में उक्त चोरों के गिरोह ने विद्यालय के प्रबंधक पर जानलेवा हमला करने के उद्देश्य से रात्रि में पहुंचे प्रबंधक के घर विद्यालय के प्रबंधक जान बचाने के लिए फाटक बंद कर घर में छिपे रहे […]

Breaking News

%d bloggers like this: