UP उपचुनाव में आठ विधानसभा सीटों पर भाजपा ही नहीं विपक्ष की भी परीक्षा

उत्तर प्रदेश की आठ विधानसभा क्षेत्रों में होने वाले उप चुनावों में सत्ता पक्ष के साथ विपक्ष की परीक्षा भी होगी। भारतीय जनता पार्टी जहां सभी सीटों पर अपनी जीत का परचम फहराने की कोशिश में लगी है तो विपक्षी दलों में खुद को मुख्य मुकाबले में लाने की जुगत में है। समाजवादी पार्टी अपने कब्जे वाली दो सीटों को बरकरार रखने के साथ अन्य क्षेत्रों में भी बढ़त लेने के उद्देश्य से मैदान में उतरेगी। भारतीय जनता पार्टी छह सीटों पर काबिज रहने के अलावा समाजवादी पार्टी की दोनों सीटों पर भी कमल खिलाना चाहती है। महामारी काल में भी वर्चुअल बैठकों के माध्यम से कार्यकर्ताओं को लगातार सक्रिय किए हुए है। यूपी बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह व महामंत्री संगठन सुनील बंसल इन सीटों की कमान खुद संभाले हैं। बूथ कमेटी सत्यापन से लेकर सेक्टर स्तर पर प्रशिक्षण कार्यशाालाएं और समन्वय बैठकें हो चुकी हैं।सूत्रों का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी रामपुर की स्वार और जौनपुर की मल्हनी के अलावा अमरोहा जिले की नौगवां सादात सीट को भी चुनौतीपूर्ण मान रही है। साथ ही इन सीटों पर कुछ नए प्रयोग की तैयारी है। जौनपुर की मल्हनी सीट को सहयोगी निषाद पार्टी ने मांगा जरूर है लेकिन भारतीय जनता पार्टी तैयार नहीं है। मुस्लिम बाहुल्य रामपुर में स्वार सीट पर कोई दमदार मुस्लिम उम्मीदवार उतारने पर भी विचार हो रहा है।कोरोना संकट में भारतीय जनता पार्टी को घेरने के लिए विपक्षी दल भी पूरी ताकत लगाएंगे परंतु एकजुटता होने की संभावना नहीं दिख रही है। बहुजन समाज पार्टी उपचुनावों में मैदान से हटकर सपा और कांग्रेस को बढ़त लेने का मौका शायद नहीं देगी। बहुजन समाज पार्टी उपचुनाव में उतरेगी तो समाजवादी पार्टी के लिए मुश्किलें बढ़ेगी। उधर, कांग्रेस भी जिस मजबूती के साथ सड़कों पर संघर्ष कर रही है। उससे साफ है कि वर्ष 2022 में प्रदेश की सत्ता में वापसी के लिए उपचुनाव का मौका नहीं छोड़ेंगी

S.P.RAWAT नई दिल्ली

Managing Director/Editor in Chief Cont.9810566149

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

MP: दस लाख का खेल मैदान चढ़ा भ्रष्टाचार की भेंट

Tue Sep 15 , 2020
खंडवा मध्यप्रदेश।ग्रामीणों ने जब आरटीआई में जानकारी मांगी तोष सामने आई कुछ और ही हकीकत, आपको बता दें कि ग्रामीण क्षेत्रों में भोले-भाले ग्रामीणों को अंधेरे में रखकर संबंधित क्या गुल खिला रहे हैं यह तो वहां पहुंचकर ही देखा जा सकता है, हमारे संवाददाता खंडवा जिले के ग्राम भोजा […]

Breaking News

%d bloggers like this: